दिल्ली के कनॉट प्लेस में बुजुर्ग शख्स ने बजाई सुरीली बांसुरी, सुनकर मन मोहित हुए लोग

दोस्तों कभी अपने आप को किसी से कम नही समझना चाहिए क्योकि एक तो कोई भी परफेक्ट नही होता और दूसरा सभी में कोई न कोई खासियत होती है.कोई अच्छा खाना बना सकता है तो कोई अच्छा डांस कर सकता है तो कोई अच्छा गा सकता है . यदि आप में कोई हुनर है तो आपको जरुर दिखाना चाहिए .आजकल सोशल मिडिया एक ऐसा प्लेटफार्म है जंहा एक से बढ़कर एक टेंलेंट देखने को मिल जाता है .आज हम आपको ऐसे वीडियो के बारे में बताने वाले है जो आजकल सोशल मीडिया पर धूम मचा रहा है . इस वीडियो में एक बुजुर्ग शख्स बांसुरी बजाते हुए दिखाई दे रहे है .इंस्टाग्राम पर इस वीडियो को हिमांशी कुकरेजा ने शेयर किया था .जिसे लोगो द्वारा बहुत पसंद किया जा रहा है .और लोग इस वीडियो पर जमकर कमेंट्स और लाइक कर रहे है .

वीडियो में देखा जा सकता है ये बुजुर्ग शख्स नई दिल्ली के कनॉट प्लेस इलाके (Connaught Place area in New Delhi) में बैठकर बांसुरी बजा रहा है और वहीं इसे शूट किया गया है. इस वीडियो को सुनने के बाद आप भी बुजुर्ग शख्स के दीवाने हो जाएंगे. ये वीडियो हर किसी का दिल जीतती नजर आ रही है इस वीडियो में देखा जा सकता है हिमांशी उस शख्स के पास जाती है. बुजुर्ग के साइड में एक बोर्ड भी रखा देखा जा सकता है. जिसमें लिखा है, ‘मैं सिर्फ संगीत की मदद से आपकी आत्मा को छूना चाहता हूं.’

https://www.instagram.com/reel/CSmsdDVhq2Q

इस वीडियो को शेयर करते हुए हिमांशी ने कैप्शन में लिखा, ‘यह बुजुर्ग शख्स सीपी के इनर सर्कल में बैठकर अपने और अपने परिवार के लिए रोटी कमाने की कोशिश कर रहा था. उन्होंने जो बांसुरी बजाई वह इतनी सुखदायक और शांति देने वाली थी कि इसने मुझे वहां इंतजार करने और उनके द्वारा बजाए गए संगीत का आनंद लेने के लिए मजबूर कर दिया. उनके प्लेकार्ड में लिखा है कि वह हमारी आत्मा को छूने के लिए संगीत बजाते हैं और वास्तव में ऐसा हू हुआ. मैं बस यही चाहती हूं कि सीपी आने वाले लोग उस जगह के आसपास के लोगों की मदद कर सकें.’

इस वीडियो पर अब तक हजारों लाइक्स आ चुके हैं साथ ही में काफी कमेंटस भी देखने को मिल रहे हैं. एक यूजर ने लिखा- रियल टैलेंट को आगे बढ़ाना चाहिए. दूसरे ने लिखा- बहुत सुंदर संगीत. इसके अलावा बाकी यूजर इमोटिकॉन शेयर कर प्यार बरसा रहे हैं.बीच सड़क पर दादाजी ने गाया बेहतरीन गाना, लोग बोले- वाह! शास्त्रीय गायन